मोदी को हराने के लिए अपोजिशन मिलकर कैंडिडेट उतारे : शौरी

0
349
नयी  दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी ने शनिवार को कहा कि बीजेपी और नरेंद्र मोदी को हराने के लिए सभी अपोजिशन पार्टियों को साथ आना होगा। 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी कैंडिडेट्स के सामने आम राय बनाकर सिर्फ एक कैंडिडेट खड़ा करना चाहिए। शौरी के मुताबिक, पिछले चुनाव में बीजेपी को 31% वोट मिले थे, लेकिन बाकी 69% अलग-अलग पार्टियों में बंटने से मोदी की जीत हुई। इसी प्रोग्राम में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मोदी सरकार के फैसलों से आम आदमी के अंदर गुस्सा है। अगला चुनाव मोदी बनाम पीपुल ऑफ इंडिया होगा। अपोजिशन को कॉमन प्रोग्राम बनाना होगा…
अरुण शौरी ने कहा, ”अगर आप वास्ताव में सोचते हैं कि देश खतरे में है… तो अपोजिशन को साथ आना होगा। उन लोगों के खिलाफ सिर्फ एक कैंडिडेट खड़ा करना चाहिए, जिन्हें हम मानते हैं कि वो देश को डेंजर जोन में लेकर जा रहे हैं। इसके लिए कॉमन प्रोग्राम तय करना होगा। मैं और मेरे एक साथी इसे 15 मिनट में बना सकते हैं।”
2014 के लोकसभा इलेक्शन में नरेंद्र मोदी का सपोर्ट करने वाले शौरी ने कहा कि पिछले चुनाव में मोदी की इतनी पॉप्युलेरिटी के बावजूद बीजेपी को 31% वोट मिले। लेकिन पार्टी की जीत हुई, क्योंकि बाकी 69% वोट अगल-अलग पार्टियों में बंट गए थे।  शौरी का बयान ऐसे वक्त में आया है, जबकि एक दिन पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी कहा, ”बीजेपी सरकार में डेमोक्रेसी को खतरा है। इसलिए अगले लोकसभा चुनाव से पहले जनहित को ध्यान रखते हुए अपोजिशन पार्टियों को साथ मिलकर काम करना चाहिए।”
दिल्ली में आम आदमी पार्टी के सोशल मीडिया स्ट्रैटजिस्ट अंकित लाल की बुक ‘इंडिया सोशल’ की लॉन्चिंग हुई। इसमें अरुण शौरी, अरविंद केजरीवाल समेत कई नेता शामिल हुए। पैनल डिस्कशन के दौरान शौरी ने अपोजिशन को साथ आने वाला बयान दिया।

loading...

स्वराज डेस्क

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here