स्वराज डेस्क 
रांची। दुमका, डोरंडा व चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाला मामले की सुनवाई बुधवार को होगी। इन मामलों की सुनवाई के दौरान बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व चारा घोटाले के सजायाफ्ता लालू प्रसाद को सीबीआइ के अलग-अलग तीन विशेष कोर्ट में पेश किया जाएगा।
लालू बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल में बंद हैं। सूत्रों के अनुसार उनकी तबीयत के मद्देनजर दूसरे विकल्प भी खुले हैं। चाईबासा मामले में लालू से जुड़े चारा घोटाले की सुनवाई सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश एसएस प्रसाद की अदालत में होगी। मामले में सीबीआइ की ओर से बहस होगी। इसके लिए अदालत ने तिथि निर्धारित की है।
चाईबासा कोषागार से 37.63 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से संबंधित मामले को लेकर प्राथमिकी दर्ज है। मामले में 55 से अधिक आरोपी ट्रायल फेस कर रहे हैं। दुमका कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाले की सुनवाई सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत में होगी।
मामले में बचाव पक्ष की ओर से गवाही की प्रक्रिया चल रही है। इसमें लालू की ओर से देवघर कोषागार मामले में गवाहों द्वारा दर्ज गवाही की सर्टिफाइड कॉपी न्यायालय में जमा की गई है। दोनों मामले एक ही अदालत में चलने के कारण लालू की ओर से ऐसा किया जाना बताया गया।
मामले में लालू प्रसाद, डॉ. जगन्नाथ मिश्र, डॉ. आरके राणा आदि आरोपी हैं। मामले में दुमका कोषागार से 3.13 करोड़ रुपये अवैध निकासी को लेकर प्राथमिकी दर्ज है।
डोरंडा कोषागार मामले में सीबीआइ की गवाही डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से संबंधित मामले की सुनवाई भी बुधवार को होगी। सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश प्रदीप कुमार की अदालत में सीबीआइ की ओर से गवाही के लिए तिथि निर्धारित है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here